पंचायत वेब सिरीज़ रिव्यू ,कहानी और कास्ट।

Panchayat web series review in hindi.
Panchayat web series review in hindi

पंचायत वेब सिरीज़ रिव्यू हिन्दी मे 

  • रिलीज डेट- अप्रैल 2020
  • कहा रिलीज हुयी- अमेज़न प्राइम विडियो
  • कुल एपिसोड- आठ 
  • रनिंग टाइम- 35-40 मिनट ( प्रत्येक एपिसोड)
  • लेखक- चन्दन कुमार 
  • डाइरेक्टर- दीपक कुमार मिश्रा 
  • वेब सिरीज़ की भाषा- हिन्दी 

पंचायत वेब सिरीज़ की कास्ट

  1. जीतेंद्र कुमार- अभिषेक त्रिपाठी ( पंचायत सचिव)
  2. नीना गुप्ता- मंजु जी ( सरपंच)
  3. रघुवीर यादव- ब्रजभूषण जी (मंजु के पति)
  4. बिस्वापति सरकार- प्रतीक (अभिषेक का दोस्त)
  5. फैसल मलिक- प्रहलाद पांडे (उप प्रधान)
  6. चन्दन रॉय- विकास (ऑफिस असिस्टेंट)
  7. पूजा सिंह- रिंन्की (प्रधान की बेटी)
  8. सुभेन्दु चक्रवती- मंगल 
  9. सुशील टंडन- भिण्डेश्वर

पंचायत वेब सीरीज की कहानी क्या है?

पंचायत वेब सिरीज़ एक इंजीनियर अभिषेक  से शुरू होती है, जो अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी की तलाश मे लग जाता है। और काफी भटकने के बाद उत्तर प्रदेश के एक छोटे से गाँव फुलेरा मे उसे पंचायत सचिव की नौकरी मिल जाती है। 
अभिषेक की नौकरी एक ऐसे गाँव मे लगती है, जहां के लोग काफी अजीब से है, लेकिन दिल के बहुत ही अच्छे है, लेकिन ये लोग अपना दिमाग लगाने मे न जाने क्यों शर्माते मतलब की इनका दिमाग बहुत कम है।

इस गाँव की मुखिया या सरपंच है, मंजु देवी जो इतनी पढ़ी लिखी नहीं है की पूरे गाँव का कार्यभार अच्छे से संभाल सके। इसीलिए इनके पति ब्रजभूषण जी, जो की थोड़े बहुत पढे लिखे है इसीलिए वही सारा काम संभालते है और ब्रज भूषण जी का मानना है की चाहे गाँव की कोई भी कैसे भी समस्या हो वो उसे आसानी से हल कर सकते है, लेकिन आपको बता दे की इनका दिल बिलकुल साफ और सच्चा है।

पंचायत वेब सिरीज़
पंचायत वेब सिरीज़ 


आशा है, आपको कहानी पढ़कर मजा आ रहा होगा, तो चलिये आगे की कहानी जानते है-

आगे की कहानी मे अभिषेक इन गाँव वालों की अजीब हरकतों से इतना परेशान हो जाता है की वो नए नए तरीके खोजने लगता है की आखिर कैसे वो इन गाँव वालों से पीछा छुड़ाये और इस गाँव से निकलकर कही और जाकर अपना अच्छा करीयर बनाए।


कहानी का आधार क्या है?

पंचायत वेब सिरीज़ की कहानी गाँव के लोगों और शहर मे रहने वाले लोगों के जीवन मे उनके रहन सहन और सोच मे क्या अंतर है इसी के आधार पर बनाई गयी है। 

एक तरफ तो गाँव के लोग है, जो पैसे को अहमियत न देकर इंसानियत का महत्व देते है और छोटी-छोटी खुशियों को भी बड़ा बनाकर अपनी ज़िंदगी मे खुश रहते है और सुख से अपनी ज़िंदगी को जीते है।
वही दूसरी और शहरी लोग जो दिन रात एक दूसरे से आगे बढने की रेस मे लगे रहते है, उन्हे न रात की सुध होती है और न ही दिन की वो तो बस एक अच्छी ज़िंदगी बनाने के चक्कर मे अपनी ज़िंदगी जीना ही भूल जाते है, जिसके कारण  उनकी सारी ज़िंदगी ऐसे ही बीत जाती है।

तो कुछ इसी प्रकार से है हमारी पंचायत वेब सीरीज की कहानी ।

पंचायत वेब सिरीज़


कहानी से जुड़ी कुछ मुख्य बाते 

  • इस कहनी मे एक पुरुष और महिला के बीच के अंतर को भी दिखाया गया है, मतलब की कहानी मे गाँव वालों का मानना है, की यदि आप एक महिला है तो घर की रसोई तक ही सीमित रहे और यदि आप एक पुरुष है, तो एक बड़े से कार्यालय मे रहिए और घर चलाने के लिए पैसे कमाइए।
  • इस वेब सिरीज़ के सभी पार्ट्स मे आपको कोई न कोई झगड़ा जरूर देखने को मिलेगा जिससे आपके मन मे ये बात जरूर रहेगी की आखिर कोण किस पर भारी पड़ेगा। और इसी झगड़े को सुलझाने के लिए अभिषेक और ब्रज भूषण जी अपने अपने नजरिए रखते है जो की काफी मजेदार होते है।
  • इस वेब सिरीज़ के लेखक ने कहानी को बहुत ही शानदार तरीके से लिखा है और गाँव के लोगो के सोच विचार को पर्दे पर काफी अच्छे तरीके से उतारा है।
  • इस वेब सिरीज़ की कहनी मे काफी सारे एक्टर्स है और हर एक एक्टर ने अपनी एक्टिंग को काफी अच्छे से किया है।

क्या आपको ये वेब सिरीज़ देखनी चाहिए ?

अगर आपको मेरे विचार जानने है की आपको ये वेब सिरीज़ देखनी चाहिए या नहीं तो मेरा उत्तर होगा हाँ, क्योंकि इस वेब सिरीज़ मे हर एक बात को काफी अच्छे से समझाया है, जिससे आपको ज़िंदगी  मे  आगे क्या करना चाहिए  इस बात का जवाब मिल जाता है, और आप कही न कही इस बात का भी जवाब पा लेंगे की आपका क्या लक्ष्य होना चाहिए। तो आप भी इस वेब सिरीज़ को अपने परिवार के साथ जरूर देखे।
Previous Post Next Post